mohan yadav biography in Hindi: biography


डॉ. मोहन यादव का जीवन परिचय, मध्यप्रदेश में नए मुख्यमंत्री और राजनीतिक करियर, उनके पत्नी, बेटा, बेटी, परिवार, धर्म, जाति, बिरहा, नेटवर्थ, जाति और धर्म सब कुछ


MP News Biography: आप सब लोगों ने देखा होगा कि राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बीजेपी ने बड़ी बहुमत से जीत हासिल की है, लेकिन अभी तक एमपी में किसी भी मुख्यमंत्री का नाम नहीं घोषित किया गया है. हाल ही में शाम को एक खबर आई है कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री का नाम घोषित किया गया है।

डॉक्टर मोहन यादव, जो मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के चेहरा बनेंगे, वो एक कर्मठ और जुझारू नेता के रूप में उभरे हुए हैं, उनके बारे में अपने लेख में चर्चा करते हैं। भाजपा के पदाधिकारियों के बारे में किसी को पता नहीं है. हम डॉक्टर मोहन यादव के बारे में विस्तार से बताते हैं।

मोहन यादव कौन है (Who is Mohan Yadav)

डॉ. मोहन यादव ने अपने राजनीतिक करियर को अपनी पढ़ाई के कुछ सालों बाद शुरू किया था. सोमवार को मध्य प्रदेश में विधायक दल के नेता ने डॉक्टर मोहन यादव को मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री नामित करने के लिए बहुमत से चुना. डॉ. मोहन यादव ने शिवराज सिंह चौहान की सरकार में तीन बार विधायक पद जीत चुके हैं, साथ ही उनकी ही सरकार में शिक्षा मंत्री 2013 से, डॉ. मोहन यादव जी को दक्षिण मध्य प्रदेश से विधायक बनते देखा गया है।

इन्हें भी पढ़े: Prahlad Singh Mehra Biography in Hindi(प्रहलाद सिंह मेहरा जीवन परिचय)

डॉ. मोहन यादव का जन्म और जन्म स्थान

डॉ. मोहन यादव का जन्म 25 मार्च 1965 को मध्य प्रदेश के एक छोटे से इलाके में हुआ था, जहाँ वे पढ़ाई में रुचि दिखाई दी. उनका जन्म स्थान मुज़्ज मार्ग मुफ़्त गंज था। अब इन्हें मध्य प्रदेश के 19वें मुख्यमंत्री के रूप में नामित कर दिया गया है और उनका कार्यभार संभालना होगा।

डॉ. मोहन यादव का परिवार

डॉ. मोहन यादव के माता-पिता, पत्नी और बच्चे हैं। पिता पूनमचंद यादव हैं। साथ ही, इनकी माता का नाम लीला बाई यादव था, जो एक मध्यमवर्गीय परिवार से थी, और उनकी पत्नी का नाम सीमा यादव था। मोहन यादव की पत्नी भी पढ़ी लिखी हैं और उनका हाथ बटाया करती हैं; उनके दो पुत्र और एक पुत्री हैं।

डॉ. मोहन यादव की शिक्षा

अब जबकि डॉ. मोहन यादव को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में नामांकित किया गया है, यह जानना भी महत्वपूर्ण है कि वे कहाँ से शिक्षित हुए हैं. चलिए इसके बारे में चर्चा करते हैं। मोहन यादव ने पीएचडी की डिग्री हासिल की है. उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा अपने क्षेत्र के स्कूल में ही पूरी की. उन्होंने मध्य प्रदेश के एक कॉलेज से ग्रेजुएशन किया, फिर विक्रम विश्वविद्यालय से पीएचडी की डिग्री हासिल की. उन्होंने मध्य प्रदेश में शिक्षा मंत्री के पद पर भी काम किया है।

मोहन यादव के व्यक्तिगत विवरण: मोहन यादव 58 वर्ष के हो चुके हैं, लेकिन उनकी उम्र इतनी नहीं लगती. उनके व्यक्तिगत विवरण: मोहन यादव व्यवहार परख व्यक्ति हैं। यह हर किसी से मिलना पसंद करते हैं और लोगों को दिल में अपनी जगह बनाए रखते हैं. इनकी आँखें काली हैं, चेहरा गोरा है और कद कम से कम 5.5 फुट का है। ज्यादातर समय, वे कुर्ता पजामा पहनकर अच्छा दिखते हैं। मोहन यादव के व्यक्तिगत विवरण में और कुछ जोड़ना चाहता हूँ। क्योंकि जब उन्होंने शिक्षा मंत्री के रूप में मध्य प्रदेश का कार्यभार संभाला था, वहाँ की शिक्षा व्यवस्था काफी सुधार होने लगी थी और उन्होंने अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाते हुए शिक्षा संबंधी कमियों को दूर करने का पूरा प्रयास किया था।

मोहन यादव का राजनीतिक करियर

मोहन यादव ने 35 से 40 साल की उम्र में राजनीति को अपना पेशा बना लिया है और तीन बार विधायक बनने के बाद जनता का विश्वास जीता है। यही कारण है कि वे चीफ मिनिस्टर के पद के लिए नामित किए गए हैं. चलिए उनके राजनीतिक करियर का एक विस्तृत विवरण लेते हैं, जो उनके शुरूआती दिनों से शुरू होता है

• मोहन यादव ने अपना राजनीतिक करियर छात्र संघ में ही शुरू किया था। 1984 में उन्होंने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में शामिल होकर अपनी राजनीतिक यात्रा शुरू की।

•मोहन यादव जी ने RSS की सेवा स्वयं सेवा दल में भी काम किया है।

• 2004 से 2010 तक मोहन यादव जी ने उज्जैन विकास प्राधिकरण का अध्यक्ष पद संभाला।

• 2010 से 2013 तक विधायकों ने राज्य पर्यटन विकास की जिम्मेदारी को बखूबी निभाया और इस क्रम में आगे बढ़ते रहें।

• 2013 में वे मध्य प्रदेश के दक्षिणी क्षेत्र उज्जैन से विधायक चुने गए, जिससे उनका असली राजनीतिक करिअर शुरू हुआ।

• 2013 के बाद विधायक बनने के उपरांत, वह लगातार तीन बार विधायक के चुनाव जीत चुके हैं।

• जब वे फिर से शिवराज सिंह की सरकार में विधायक बन गए, तो उन्हें मंत्री भी बनाया गया। शिवराज सिंह की सरकार में वह शिक्षा मंत्री था

• उसके बाद, 2023 में मध्य प्रदेश में विधायक दल का चुनाव भी हुआ, जहां उन्होंने जीत हासिल की. हाल ही में विधायक दल की बैठक में उन्हें मुख्यमंत्री के रूप में नामित किया गया।

• 2023 में डॉ. मोहन यादव को मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया गया, जो शिवराज सिंह चौहान की जगह दो तीन दिन में कार्यभार संभाल लेंगे।

मोहन यादव की संपत्ति (Net Worth)

मोहन यादव एक अमीर राजनेता हैं और उनके पास बहुत सारी संपत्ति है। कुल 42 करोड़ रुपये की संपत्ति में से 32.1 करोड़ रुपये अचल संपत्ति और 9.9 करोड़ रुपये जल संपत्ति हैं। क्योंकि वे व्यापारी थे, उन्होंने अपनी संपत्ति को बढ़ाया है और मोहन यादव पर कुछ लेनदारीयां हैं, जो लगभग आठ करोड़ रुपये की हैं। डॉ. मोहन यादव बड़े आदमी हैं, लेकिन वे भी अच्छे इंसान हैं।

मोहन यादव ने भाजपा के सबसे अनुभवी नेता के रूप में चुना गया है क्योंकि वे RSS के सदस्य भी रहे हैं. उन्होंने राजनीति को अपने छात्र जीवन से ही शुरू किया था और कई जगहों पर अध्यक्ष के पद पर भी काम किया था. इसके बाद, वे तीन बार विधायक बने, जिसमें से दो बार उन्होंने अपने काम को सही ढंग से पूरा किया।

देश और दुनिया की ताजा खबरो के Letest News पर अलग नजरिया, और अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फॉलो करे TimeNewz हिंदी में।

Leave a Comment